Vanshavali Kya hai or Vanshavali Kaise Banaye | Bansawali Kaise Banaye | Genealogy Form1

2
Vanshavali Kaise Banaye Bansawali Format Bansawali Kaise Banaye Genealogy Form
Vanshavali Kaise Banaye Bansawali Format Bansawali Kaise Banaye Genealogy Form
आज के इस पोस्ट में वंशावली से सम्बंधित जानकारी जानेंगे जैसे :-Bansawali Kaise Banaye, Bansawali Format कैसा होता हैं, Bansawali Form Pdf Download कैसे करेंगे, वंशावली कैसे बनता है, वंशावली प्रमाण पत्र कैसे बनवाया जाता हैं, Bansawali Format कैसे भरे यहाँ से पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

बंशावली क्या होता हैं |Vanshavali Kya hai | Vanshavali Kaise Banaye?

Vanshavali Kaise Banaye आज कल बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल होने वाला प्रमाण पत्रों में से एक हैं। वंशावली का इस्तेमाल जमीन से सम्बंधित कार्यो में होता हैं। वंशावली से यह साफ होता हैं की आपके हिस्से में कितना जमीन/सम्पति हैं, जो आपको पूर्वजो से मिला हुआ हैं। वंशावली में आपके पूर्वजो का नाम भी लिखा जाता हैं। आपके मन में एक सवाल आया होगा की Bansawali Kaise Banaye इस पोस्ट को आप अंत तक पढ़ेंगे तो आपको पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी मिल जायेगा। 

अगर आप अपने नाम से बंशावली बनवाएंगे तो आपका नाम सबसे निचे लिखा जाता हैं। वंशावली को इंग्लिश में Genealogy कहा जाता हैं। Bansawali Kaise Banaye और Vanshavali Kaise Banaye दोनों एक ही नाम हैं। 

वंशावली कितने प्रकार के होते हैं | Vanshavali Kaise Banaye

मुख्यतः वंशावली 2 प्रकार के होता हैं। 

Vanshavali Kaise Banaye
Vanshavali Sample

1.पंचायत स्तर से वंशावली | Genealogy one from your panchayat

2. वंशावली एक कोर्ट  के द्वरा | Genealogy by court

वंशावली बनाने का प्रक्रिया  | Bansawali Kaise Banaye

1.पंचायत स्तर से वंशावली | Genealogy from panchayat level

पंचायत स्तर से वंशावली बनवाने के लिए अपने पंचायत के सरपंच या फिर मुखिया से मिलना होगा और अपने जमीन से सम्बंधित सभी पेपर दिखाना होगा। उस जमीन में सभी हिस्सेदार का नाम भी बताना होगा। ये सभी जानकारी देने के बाद मुखिया अपने लेटर पैड पर सभी विवरण के साथ वंशावली बनाकर देते हैं। जिसमे आपके पूर्वजो का नाम होगा, और अंतिम में अभी जिनका-जिनका हिस्सा हैं उनका-उनका नाम लिखा जायेगा। 

पंचायत स्तर से वंशावली बनवाना आसान एवं सरल प्रक्रिया हैं, जो बिना किसी परेशानी एवं भाग दौर के बन जाता हैं। 

इसे भी पढ़े:- दाखिल खारिज ऑनलाइन बिहार स्टेटस देखें |

2. वंशावली कोर्ट  के द्वरा | Genealogy by court

यदि आप वंशावली कोर्ट से बनवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ पैसे खर्च करना पड़ेगा और ये प्रक्रिया थोड़ा लम्बा होगा मगर भविष्य के लिए बहुत ही फायदे मंद होगा। कोर्ट से बनवाने के लिए आपको एक वकील का मददत लेना होगा। जो वकील आपके सभी पेपर को तैयार करेगा। जिसमे आपके हिस्से का जमीन का विवरण रहेगा। इस पेपर पर सभी हिस्सेदार का नाम एवं जमीन का विवरण रहेगा।

इस पेपर पर सभी हिस्सेदार को अपना हस्ताक्षर करना होता हैं यानि की अपना सहमति देना होता हैं। तैयार किये गए पेपर को आपके हल्का कर्मचारी वेरिफिकेशन करते हैं फिर उनके करने के बाद आपके अंचल पाधिकारी के माध्यम से वेरिफिकेशन होता हैं। वेरिफिकेशन प्रक्रिया पूरा होने के बाद ऑनलाइन के माध्यम से दाखिल ख़ारिज के लिए आवेदन करना होगा।

उसके बाद फिर से आपके हल्का कर्मचारी और अंचल पदाधिकारी द्वारा वेरिफिकेशन होगा और उसके बाद से सभी हिस्सेदार के नाम से अलग-अलग रसीद करने लगेगा। ये होने के बाद बटवारा से खतियानी जमीन से सम्बंधित सभी विवाद भी खत्म हो जायेगा। 

जब जमीन का रसीद आपके अपने नाम से कटने लगेगा तो आपको कई तरह की सुविधा मिल सकता हैं:- जैसे प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना का लाभ, बैंक से KCC लोन इत्यादि।  

इसे भी पढ़े:- जमीन का रसीद ऑनलाइन कैसे कटता है | jamin ka rasid kaise kate पढ़े यहाँ

हमेशा अपडेट रहने के हमरा ग्रुप ज्वाइन करें। 
“आज का ये पोस्ट आपको कैसा लगे हमें कमेंट करके जरूर बताये और अपने दोस्तों रिस्तेदारो के साथ शेयर करें” धन्यवाद www.BiharForm.com

इसे भी पढ़े:- खतियान क्या होता हैं या खतियान किसे कहते हैं ?

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here