Responsive Menu
Add more content here...

मनरेगा क्या है, Nrega Bihar, Mgnrega Bihar, Mgnrega Full Form?

आज के इस आर्टिकल में जानेंगे मनरेगा क्या है, Nrega Bihar, Mgnrega Bihar, Mgnrega Full Form? पूरी जानकारी में लिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े। 

मनरेगा क्या है – Nrega Bihar – Mgnrega Bihar

मनरेगा योजना क्या है (Bihar Nrega Yojana 2024) – महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम 2005 या मनरेगा, जिसे पहले राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम या नरेगा (Nrega) के रूप में जाना जाता था, जो एक प्रकार का भारतीय श्रम कानून और सामाजिक सुरक्षा उपाय है

जिसका उद्देश्य “काम के अधिकार” की गारंटी देना है । यह अधिनियम 23 अगस्त 2005 में ग्रामीण विकास मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह द्वारा संसद में बिल पेश करने के बाद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की यूपीए सरकार के तहत पारित किया गया था

Mnrega यानि Bihar Nrega विश्व की पहली और सबसे बड़ी योजना है जो लोगों को 100 दिन रोजगार प्रदान करने का अवसर प्रदान करता है साथ ही हर साल करोड़ों लोगों को इससे जरिये रोजगार मुहैया कराया जाता है।

अगर आप भी MGNREGA Yojana Kya Hai 2024 के बारें में विस्तृत जानकारी जानना चाहते है तब आपको इस ब्लॉग लेख में बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2024 कैसे देखें के बारें में जानने को मिलेगा। जिससे आप भी Bihar Mnrega / Nrega Yojana 2024 के बारें में जान सकते है।

Mgnrega Full Form – Nrega Full Form क्या होता हैं?

Mgnrega Full Form :- Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act होता हैं। इसे हिंदी में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम कहा जाता हैं।

मनरेगा का पूरा नाम क्या है?

Mgnrega Full Form :- Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act होता हैं। इसे हिंदी में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम कहा जाता हैं।

Highlights – Nrega Bihar – Mgnrega Bihar

योजना का नाम

मनरेगा रोजगार ग्रांटी योजना

मंत्रालय

ग्रामीण विभाग सरकार मंत्रालय

शुरू करने वाला

लोकसभा, भारत

बिल पारित

23 अगस्त 2005

माना गया

Advertisements

5 सितंबर 2005

शुरू किया गया

2 फरवरी 2006

योजना बिल का शीर्षक

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी विधेयक, 2005

संशोधित नाम

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी (संशोधन) अधिनियम

उदेश्य

देश के ग्रामीण क्षेत्रों में परिवारों की आजीविका सुरक्षा को बढ़ाने के लिए प्रत्येक वित्तीय वर्ष में प्रत्येक वित्तीय वर्ष में कम से कम एक सौ दिनों की गारंटीकृत मजदूरी रोजगार प्रदान करने के लिए एक अधिनियम

आधिकारिक वेबसाइट लिंक

nrega.nic.in

मनरेगा योजना (MGNREGA Scheme) क्या है – NREGA Scheme in Hindi

केंद्र सरकार की यह एक ऐसी महत्वाकांक्षी योजना है जो ग्रामीण इलाकों में रह रहें वयस्क मजदूरों को साल में कम से कम 100 दिन रोजगार देने और प्रतिदिन मजदूरी के हिसाब वेतन देने का ग्रांटी देता है। इस योजना की शुरुआत पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के द्वारा 07 सितंबर 2005 को किया गया था।

जब इस योजना की शुरुआत किया गया था तब इसे The Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act. (MGNREGA) के नाम से जाना था जिसे हिंदी में “महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम” कहा जाता है

शुरुआत में मनरेगा योजना को भारत के 200 जिलों में शुरू किया गया था जिसके योजना सफल होने के बाद 2 अक्टूबर 2009 इसका नाम बदलकर “महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम” (NREGA) कर दिया गया था जो वर्तमान में इसी नाम से जाना जाता है।

नरेगा (Nrega) योजना शुरू करने का उदेश्य क्या था?

यह बात वर्ष 1991 की है जब देश में बेरोजगारी चरम पर थी और ग्रामीण इलाके के लोग शहरों की ओर रोजगार के खोज में पलायन कर प्रवासी मजदूर बन रहें थे तब सरकार ने अस्थाई रोजगार देने के लिए जवाहर रोजगार योजना का पुर्नोत्थान किया था

परंतु स्थायी रोजगार देने के लिए वर्ष 2005 में लोकसभा में मनरेगा अधिनियम को लाया गया था जिसका मुख्य उदेश्य निम्न था: –

  • ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहें रोजगार के लिए पलायन को रोकना
  • लोगों को उनके 5 किलोमीटर के भीतर कम से कम 100 दिनों का रोजगार प्रदान करना
  • जल संरक्षण और जल संचयन; वनीकरण सहित सूखा प्रूफिंग; सिंचाई कार्य; पारंपरिक जल निकायों की बहाली; भूमि विकास; बाढ़ नियंत्रण; ग्रामीण संपर्क; और सरकार द्वारा अधिसूचित कार्य को करना
  • इस योजना में सबसे अधिक महिलाओं को शामिल किया गया, जो स्थानीय रूप से सरकारी कामों को कर सकें।
  • योजना की शुरुआत के बाद से, विशेषकर महिलाओं के लिए कृषि मजदूरी में वृद्धि हुई।
  • मनरेगा योजना का एक अन्य उद्देश्य टिकाऊ संपत्ति (जैसे सड़कें, नहरें, तालाब और कुएँ) बनाना है।
  • यदि आवेदन करने के 15 दिनों के भीतर काम उपलब्ध नहीं कराया जाता है, तो आवेदक बेरोजगारी भत्ते देना।
  • मनरेगा यानि नरेगा योजना के तहत रोजगार एक कानूनी अधिकार है।
  • नरेगा को बढ़ावा देने के लिए कही गई अन्य बातें हैं कि यह पर्यावरण की रक्षा करने, ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाने, ग्रामीण-शहरी प्रवास को कम करने और सामाजिक समानता को बढ़ावा देने में मदद करना है।

बिहार नरेगा जॉब कार्ड क्या है – Bihar Nrega Job Card in Hindi

यह एक ऐसी पहचान पत्र के रूप में कार्य करने वाली जॉब कार्ड है जो वयस्क लोगो (उम्र 18 वर्ष से ऊपर) महिला और पुरुषों को साल में कम से कम 100 दिन रोजगार सरकारी कार्यों को करने की ग्रांटी देता है। जिसके लिए न्यूनतम प्रतिदिन मजदूरी 210 और अधिकतम 331 रुपया वर्ष 2022 के आंकड़े के अनुसार दिया जाता है। 

इस योजना को MGNREGA, NREGA, MNREGA यानि नरेगा और मनरेगा, बिहार नरेगा के नाम से जाना जाता है। देशभर में अब तक 12 करोड़  (120 मिलियन) से अधिक लोगों के पास मनरेगा ग्रांटी जॉब कार्ड बनाया जा चुका है 

जिसके कार्यक्रम की शुरुआत के बाद से 146 लाख (14.6 मिलियन) कार्य किए गए हैं, जिनमें से लगभग 60 प्रतिशत पूरा हो चुका है। नरेगा जॉब कार्ड में लाभार्थी का नाम, पिता/पति का नाम, पता के साथ जॉब कार्ड नंबर अंकित होता है।

मनरेगा की मजदूरी राशि राज्यवार – MGNREGA wage amount List By State Wise

राज्य/संघ राज्य का नाम

प्रतिदिन मजदूरी की दर रुपयों में

आंध्र प्रदेश

257.00 रु

Arunachal Pradesh

216.00 रु

असम

229.00 रु

बिहार

210.00 रु

छत्तीसगढ

204.00 रु

गोवा

315.00 रु

Gujarat

239.00 रु

हरियाणा

331.00 रु

Himachal Pradesh

266.00 रु

झारखंड

210.00 रु

Karnataka

309.00 रु

केरल

311.00 रु

मध्य प्रदेश

204.00 रु

महाराष्ट्र

256.00 रु

मणिपुर

251.00 रु

मेघालय

230.00 रु

मिजोरम

233.00 रु

नगालैंड

216.00 रु

ओडिशा

222.00 रु

पंजाब

281.00 रु

राजस्थान

231.00 रु

सिक्किम

222.00 रु

तमिलनाडु

281.00 रु

तेलंगाना

257.00 रु

त्रिपुरा

212.00 रु

Uttar Pradesh

213.00 रु

उत्तराखंड

213.00 रु

पश्चिम बंगाल

223.00 रु

  • एक दिन को 9 घंटे के काम और एक घंटे के आराम के बराबर माना जाता है। राज्यवार मुद्रास्फीति दरों में अंतर के कारण राज्यों के बीच अंतर। 
  • 2023: सबसे ज्यादा- ₹ 331 (US$4.10) सबसे कम- ₹ 204 (US$2.60) प्रति दिन की मज़दूरी

  • वर्ष 2023-24 नरेगा योजना के मजदूरी रिपोर्ट के अनुसार सबसे ज्यादा प्रतिदिन की मजदूरी हरियाणा राज्य के मजदूरों को ₹ 331 दिया गया है तो वही सबसे कम बिहार और झारखंड के मजदूरों को ₹ 210 ही दिया गया है।

बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2024 कैसे देखें –

NREGA Job Card List Bihar

अगर आप भी बिहार मनरेगा नरेगा योजना में मजदूरी करने के लिए आवेदन पंचायत स्तर पर या ऑनलाइन किए है और देखना चाहते है कि आपका नरेगा जॉब कार्ड बना है या नही तब इसे नीचे दिया गया स्टेप्स को फॉलो करके देख सकते है: –

Nrega Nic in Bihar

  1. Bihar Manrega Yojana Job Card List 2024 देखने के लिए आवेदक को सबसे पहले मोबाइल में Bihar Nrega Portal पर जाना होगा और वहाँ Reports बटन पर क्लिक करना होगा।

  2. नया पेज ओपेन होने के बाद Financial Year में 2023-24 और State में Bihar को सेलेक्ट करना होगा।

  3. जहां पर दिया गया Job Card Issued लिंक पर क्लिक करना होगा और अपना जिला को सेलेक्ट करना होगा।

FC6KCakffW61PDuJ0gkNM3hugFvC38cWuO ZgxAH qmuJcSQJiw8IK6NnBpIaD 6LhdofRVY1qfumdwa HZrWsMfXIQcYgvt UCyRDscVng5aB5WZaE5UXB0auEp

  1. फिर आवेदक का ब्लॉक, पंचायत लिंक पर क्लिक करना होगा और Proceed बटन के साथ आगे बढ़ना होगा।

  2. ऐसे करते ही आपके पंचायत के सभी लोगो का Mnrega Job Card List 2023 आ जाएगा, जिसमें से आपको अपना नाम को सर्च करना होगा।

  3. इसके बाद Job Card Number पर क्लिक करने पर आपका मनरेगा जॉब कार्ड दिखाई देना शुरू हो जाएगा।

निष्कर्ष / Conclusion

इस ब्लॉग लेख में आपने मनरेगा क्या है, Nrega Bihar, manrega yojna के बारें में विस्तृत से जाना है

आशा करता हूँ बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2024 कैसे देखें के बारें में सम्पूर्ण जानकारी पता चल चुका होगा। अधिक लोगों तक इस जानकारी को पहुंचाने के लिए इस ब्लॉग पोस्ट को सोश्ल मीडिया पर अवश्य शेयर करें। शुक्रिया…

हमेशा अपडेट रहने के लिए ग्रुप ज्वाइन करें।

1 thought on “मनरेगा क्या है, Nrega Bihar, Mgnrega Bihar, Mgnrega Full Form?”

Leave a Comment

Contact Us