Responsive Menu
Add more content here...

Bihar Ka Sabse Bada Jila और Bihar Ka Sabse Chota Jila कौन है?

आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे Bihar Ka Sabse Bada Jila और Bihar Ka Sabse Chota Jila कौन हैं। यदि आप इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी चाहते  आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े। 

Bihar Ka Sabse Bada Jila कौन हैं?

बिहार का सबसे बड़ा जिला का नाम पश्चिम चंपारण है। बिहार के सबसे ज्यादा वन क्षेत्र इसी जिला में अवस्थित है। इस जिला का सबसे बड़ा विशेषता यह है की इसका सिमा क्षेत्र दूसरे देश के साथ जुड़ी हुई है। जो की उत्तर की दिशा मे नेपाल आता है, दक्षिण की दिशा में गोपालगंज जिला जुड़ा है,  पूर्व दिशा में पूर्वी चंपारण और पश्चिम में उत्तर प्रदेश राज्य है।

बिहार का प्रसीद वन क्षेत्र बाल्मिकीनगर इस ही जिला में स्थित है। इस जिले का मुख्यालय बेतिया में स्थित है।  यहाँ के लोग मुख्य रुप खेती करना पसन्द करते है, इस जिला का मूल भाषा भोजपुरी हैं। इस जिला अंतर्गत कुल 3 अनुमंडल, 18 प्रखंड, 32 थाना, 315 पंचायत और 1483 गाँवों की संख्या है। 

Bihar Ka Sabse Amir Jila और Garib Jila कौन हैं?

पश्चिम चंपारण जिला का इतिहास कुछ ऐसा हैं। 

पश्चिमी चंपारण का इतिहास बहुत ही पुराना रहा है, गाँधीजी का प्रथम सत्याग्रह भारतीय स्वतंत्रता के इतिहास का अमूल्य पन्ना है। ऐपश्चिम तिहासिक दृष्टिकोण से पश्चिमी चंपारण एवं पूर्वी चंपारण एक है। चंपारण का बाल्मिकीनगर देवी सीता की शरणस्थली होने से अति पवित्र है। वहीं दूसरी ओर गाँधीजी का प्रथम सत्याग्रह भारतीय स्वतंत्रता के इतिहास का अमूल्य पन्ना है। राजा जनक के समय से यह तिरहुत प्रदेश के अंतर्गत था जो बाद में छठी सदी ईसापूर्व में वैशाली के साम्राज्य का हिस्सा बन गया।
अजातशत्रु के द्वारा वैशाली को जीते जाने के बाद यह मौर्य वंश, कण्व वंश, शुंग वंश, कुषाण वंश तथा गुप्त वंश के अधीन रहा। सन 750 से 1155 के बीच पाल वंश का चंपारण पर शासन रहा। इसके बाद मिथिला सहित चंपारण प्रदेश सिमराँव के राजा नरसिंहदेव के अधीन हो गया। बाद में सन 1213 से 1227 ई० के बीच बंगाल के गयासुद्दीन एवाज ने नरसिंह देव को हराकर मुस्लिम शासन स्थापित की। मुसलमानों के अधीन होने पर तथा उसके बाद भी यहाँ स्थानीय क्षत्रपों का सीधा शासन रहा।

बिहार का दूसरा सबसे बड़ा जिला कौन हैं?

बिहार का दूसरा सबसे बड़ा जिला “गया” है। जो 5,229 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। यह जिला तीर्थस्थानों में से एक है। यहाँ का  विष्णुपद मंदिर पर्यटकों के बीच लोकप्रिय है। यहाँ दूसरे देश के लोग भी भर्मण करने आते है। संस्कृति के मामले मे गया जिला अन्य जिला से अलग बनता है। इसी जिला से बोध धर्म का जन्म हुआ हैं। 

 Bihar Ka Sabse Chota Jila कौन है?

बिहार के सबसे छोटा जिला शिवहर है। क्या आप जानते? इस जिला का नाम शिवहर ही नाम क्यों रखा गया, चलिए हम बताते हैं :-  स्थली पर भगवान शिव और हरि के मिलन की भूमि है शिवहर, इसी लिए इस जिला का नाम शिव+हर= शिवहर  रखा गया, और शिवहर जिला का प्रसिद मंदिर देकुली शिव मंदिर है। इस जिला का क्षेत्रफल 349 वर्ग किमी है, जिला में कुल 1 अनुमंडल, 05 प्रखंड, 09 थाना, 1 नगर परिषद, 53 पंचायत है। इस जिला में कुल जनसंख्या 87,246 जिस में साक्षर लोगों की संख्या 29 3,9 98 जिस में पुरुष की संख्या 16 1,9 45 और महिलायो 12 2,1 53 है। शिवहर जिला का 444 वर्ग किलो मीटर छेत्रफल है। 

Bihar Ka Full Form क्या होता हैं?

शिवहर जिला का इतिहास 

क्षेत्रफल की दृस्टि के बिहार का सबसे छोटा जिला शिवहर है, और यह 1972 के पहले मुजफ्फरपुर जिला मे आता था 1972 के बाद सीतामढ़ी जिला मे शामिल हो गया। लेकिन 5 अक्टूबर 1994 मे शिवहर को स्वतंत्र रूप से जिला घोषित कर दिया गया। शिवहर जिला की मुख्य भाषा वज्जिका एवं हिंदी है, शिवहर जिला की प्रमुख नदी बागमती है, जिला में 1 लोक सभा सीट है, 2 विधान सभा सीट है। 

निष्कर्ष 

आज के आर्टिकल आप Bihar Ka Sabse Bada Jila और Bihar Ka Sabse Chota Jila के बारे में पढ़े हैं। यह जानकारी आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके बताये और यह जानकारी अपने दोस्त, परिवार और रीतेदारो के साथ शेयर करें। 

आर्टिकल को अंत तक पढ़ें के लिए आपको दिल ♥ से धन्यवाद। 

इसे भी पढ़े। 
1  बिहार के प्रमुख्य त्योहार इस प्रकार हैं।
2 बिहार RTO कोड लिस्ट देखें?
3 Service Plus Bihar – RTPS का सभी जानकारी पढ़े।
4 Lohiya Swachh Bihar Abhiyan Form
5 बिहार में कितना एयरपोर्ट है?

About The Writer

Leave a Comment

Contact Us