Kyc Full Form in Hindi, Kyc Kya Hota Hai, Kyc Kya Hai, e-Kyc Kya Hai

2
KYC Documents Required, KYC kaise kare, Types of KYC
KYC Documents Required, KYC kaise kare, Types of KYC

आज के इस आर्टिकल ,में आप जानेंगे Kyc Full Form in Hindi, Kyc Kya Hota Hai, Kyc Kya Hai, e-Kyc Kya Hai . पूरी जानकारी के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़े। 

Kyc Full Form in HindiKyc Kya Hota Hai

KYC क्या है इसके प्रकार और KYC कैसे करे 2023 – अभी के समय में ग्राहक को बैंक में या किसी भी सरकारी योजना के जरिये पैसा लेना होता है तब उन्हे केवाईसी करवाने के लिए बोला जाता है साथ ही यह भी कहा जाता है कि बिना केवाईसी के पैसा निकाला नही जा सकता है

आखिर यह KYC क्या है जो आजकल हर जगह सुनने को मिलता है और ग्राहक को ना चाहते हुये भी इस प्रकार के सत्यापन को करवाना होता है आप भी इन सभी सवालों का जवाब जानना चाहते है तब आपको इस ब्लॉग लेख में KYC क्या है और KYC कैसे करे 2023 के बारें में विस्तृत जानकारी जानने को मिलने वाला है। 

Kyc Full Form in Hindi – केवाईसी फुल फॉर्म हिंदी 

Kyc Full Form in Hindi : Know Your Customer होता हैं। इसे हिंदी में अपने ग्राहक को जानो होता हैं। KYC (केवाईसी) फुल फॉर्म का मतलब होता हैं  अपने ग्राहक को जानो

KYC क्या होता है – What is KYC in Hindi 

केवाईसी की प्रक्रिया बैंक और वैसे वित्तीय संस्थानों के द्वारा कराया जाता है जो उनके ग्राहक होता है। इसके माध्यम से बैंक और वित्तीय संस्थानों उन सभी ग्राहकों की पहचान और पते की पुष्टि करता है जो उनके साथ वित्तीय ट्रांजेक्शन करते हैं।

केवाईसी के माध्यम से बैंक या संस्थान (म्यूचुअल फंड, फिक्स्ड डिपॉज़िट) किसी व्यक्ति की पहचान और पते की पुष्टि करता है। यह एक प्रकार का ग्राहक को जानने का प्रपत्र होता है जिसे बैंक द्वारा ग्राहकों से हर 6 महीने या अधिकतम 1 साल में एक बार करवाने के लिए बोला जाता है।

Bank और Financial Service देने वाली संस्था इस प्रकार के केवाईसी प्रक्रिया से ग्राहकों को इसलिए गुजारता है क्योंकि बैंक ग्राहकों के अपडेट जानकारी को अपने डाटाबेस में रखना चाहते है जिससे भविष्य में उनसे सम्पर्क करने में आसानी हो।  

भारत में केवाईसी (KYC) सत्यापन प्रक्रिया मॉडेल को वर्ष 2002 में अपनाया गया था, इससे पहले भी विश्व के अन्य देश ग्राहकों से केवाईसी करवाते थे परन्तु RBI (रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया) के द्वारा देश के सभी बैंको ग्राहकों से केवाईसी करवाने के लिए वर्ष 2005 में नियम लागू कर दिया था।

KYC के प्रकार – Types of KYC in Hindi

भारत में वित्तीय क्षेत्रों के द्वारा कई प्रकार के केवाईसी करने की सुविधा प्रदान किया जाता है जिसके अनुसार KYC के 6 प्रकार होता है: –

  1. Paper-based KYC: – इसमें ग्राहकों को अपना स्व-सत्यापित, पते की भौतिक सत्यापन करवाने के लिए दस्तावेज़ की प्रतियां बैंक, फंड हाउस कार्यालय या केवाईसी पंजीकरण एजेंसी के यहाँ जाना होता है।
  2. Aadhaar-based eKYC: – UIDAI द्वारा एकत्र किए गए डेटा का उपयोग ग्राहकों को दूर से प्रमाणित करने के लिए किया जाता है। इसमें आधार ओटीपी आधारित या बायोमेट्रिक-आधारित सत्यापन होता है।
  3. Digital KYC: इस प्रकार के सत्यापन में ग्राहकों के बैंक या वित्तीय संस्थाओं के पोर्टल या ऐप पर अपना दस्तावेज़ की प्रतियाँ अपलोड करना होता है।
  4. Offline KYC: – इसमें ग्राहकों को बैंक केवाईसी फॉर्म और अपना दस्तावेज़, फोटो, सिग्नेचर के साथ ऑफलाइन तरीकों से जमा करना होता है।
  5. Central KYC (CKYC): सीकेवाईसी केवाईसी दस्तावेजों को जमा करने और आपकी पहचान को प्रमाणित करने की प्रक्रिया है, जिसके बाद केवाईसी रिकॉर्ड केंद्रीय रिपॉजिटरी में जुड़ जाते हैं।
  6. Video KYC: इसमें बैंक या वित्तीय संस्थानों के द्वारा ग्राहकों को विडियो कॉल किया जाता है और इसी पर उनसे दस्तावेज़ की फोटो दिखाने, अपना फेस दिखाने और सिग्नेचर करने के लिए बोला जाता है जो पेपरलेस प्रक्रिया है। 

e KYC kya hai – What is e KYC in Hindi

भारत में, इलेक्ट्रॉनिक नो योर कस्टमर या इलेक्ट्रॉनिक नो योर क्लाइंट या ईकेवाईसी एक प्रक्रिया है जिसमें ग्राहक की पहचान और पते को आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक रूप से सत्यापित किया जाता है। देश में ई केवाईसी लोकप्रिय होने का मुख्य कारण यह है क्योंकि देश में 99% वयस्क आबादी की डिजिटल पहचान है।

ईकेवाईसी को अधिक से अधिक व्यवहार्य माना जाता है क्योंकि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का उपयोग करके इसकी सटीकता में सुधार हो रहा है। e KYC का अर्थ OCR Mode से जानकारी प्राप्त करना होता है।

केवाईसी का फुल फॉर्म क्या होता है – Kyc Ka Pura Naam Kya Hai – Kyc Full Form in Hindi

kyc ka matlab kya hai केवाईसी का पूरा नाम Know Your Customer (अपने ग्राहक को जानो) होता है तो वही कभी कभी केवाईसी का फूल फॉर्म के रूप में Know Your Client भी बोला जाता है।

  • K – Know (जानना)
  • Y – Your (अपना)
  • C – Customer (ग्राहक)

Aadhaar Paperless Offline e-KYC Kya Hai

आधार पेपरलेस ई-केवाईसी एक ऑफलाइन सिक्योर और शेयर करने वाला डॉक्यूमेंट है जिसका इस्तेमाल आधार कार्ड धारक अपने ऑफलाइन पहचान के लिए कर सकता है। इसमें किसी व्यक्ति के शारीरिक symptoms (biometrics) की मिलान उसके aadhaar database में मौजूद लक्षणों से की जाती है।

KYC क्यों किया जाता है?

बैंक और अन्य वित्तीय संस्थानों के द्वारा केवाईसी करने का सबसे बड़ा कारण अपने ग्राहकों के अपडेट जानकारी को जानना होता है। आप सोचेगे, जब खाता खुलवाने के समय बैंक को अपना आधार कार्ड, पैन कार्ड इत्यादि दिया ही था तो फिर से वह इसके जरिये केवाईसी करवाने के लिए क्यों बोलते है

दरअसल बैंक हर 1 साल बाद ग्राहकों से KYC करवाने के लिए इसलिए कहता है क्योंकि इस दौरान बहुत सारें ग्राहकों के पहचान पत्र, पता, मोबाइल नंबर और व्यक्तिगत परिवर्तन आ जाता है या वो करता लेते है इन सबको फिर से बैंक डाटा में अपडेट करने के लिए बैंक ऐसा कहता है जिससे ग्राहक से सम्पर्क करने में आसानी हो।

Kyc कैसे करें – Bank Me Kyc Kya Hai

केवाईसी करने के लिए आपको अपने बैंक में पासबूक, आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट साइज़ फोटो (लागू नही) लेकर जाना होगा और वहाँ से KYC Update Form में मांगे गए खाता संख्या और दस्तावेज़ संख्या के साथ मोबाइल नंबर दर्ज करके बैंक अधिकारी को देने पर आपके अकाउंट में KYC Update कर दिया जाता है।

केवाईसी कराने में क्या क्या लगता है? KYC Documents Required

मुख्य रूप से ग्राहकों से KYC करने के लिए निम्न डॉक्युमेंट्स की ही मांग किया जाता है: –

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटर कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो (लागू नही होता)
  • बैंक पासबूक
  • ड्राइविंग लाइसेंस

केवाईसी हुआ है या नहीं कैसे पता करें? – kyc status check online 2023

ग्राहकों को अपने अकाउंट पैन कार्ड केवाईसी का स्टेटस चेक करने के लिए किसी भी ब्राउज़र में KYC Status Check Online टाइप कर सर्च करना होगा और पहला वेबसाइट www.karvykra.com को ओपेन कर खुले पेज में अपना PAN Card Number को दर्ज कर Search करने पर स्टेटस देखा जा सकता है। 

आधार कार्ड से केवाईसी कैसे करें – आधार कार्ड से ऑफलाइन KYC कैसे करें?

आप जिस भी वित्तीय चीज़ चाहे वह बैंक अकाउंट, म्यूचुअल फंड, फिक्स्ड डिपॉज़िट इत्यादि में केवाईसी करवाना चाहते है इसके लिए आपको अपने सर्विस पोर्टल के माध्यम से KYC Form Download कर उसका प्रिंट आउट निकाले

और उसमें मांगे गए जानकारी को भर कर उसे संबन्धित कार्यालय, बैंक में आधार कार्ड, पैन कार्ड के साथ लेकर जाएँ और वहाँ इसमें जमा करने। अधिकतम 7 दिनों के अंदर आधार कार्ड से केवाईसी को कर दिया जाएगा, जिसके लिए किसी भी तरह का राशि नही लिया जाता है।  

घर बैठे KYC कैसे करे? – Online KYC Process in Hindi

ग्राहक चाहे तो केवाईसी को घर बैठे भी करवा सकता है जिसे कई माध्यम से पूरा किया जा सकता हैं: –

  • ईमेल के माध्यम से: – इसके लिए आपको अपने Bank Branch (जिसमें खाता है) उसके ईमेल आईडी पर Aadhaar Card के दोनों तरफ की कॉपी, PAN Card, Passbook, Passport Size Photo और Mobile Number भेजकर केवाईसी करने के लिए अनुरोध कर सकते है।
  • Post के माध्यम से: – असमर्थ व्यक्ति जो बैंक नही जा सकते है वह बैंक के वेबसाइट से KYC Update Form Download कर प्रिंट करने के बाद उसे भरकर और आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासबूक, फोटो को लिफाफा में बंद कर बैंक के एड्रेस पर भेजकर केवाईसी करने के लिए अनुरोध कर सकते है।
  • Video KYC के माध्यम से: – ईएक लिए ग्राहक को बैंक के ऑनलाइन अकाउंट ओपेनिंग ऐप में अपने खाते की जानकारी देकर Video KYC करने का रेकुएस्ट भेजने पर बताए समय पर विडियो के माध्यम से केवाईसी की प्रक्रिया को पूर्ण बैंक अधिकारी के द्वारा पूर्ण किया जा सकता है।
  • Netbanking के माध्यम से: – अपने बैंक का सर्विस नेटबैंकिंग के माध्यम से भी ग्राहक ऑनलाइन घर बैठे केवाईसी कर सकते है। जिसमें उनको अपना आधार कार्ड और पैन कार्ड साथ ही मोबाइल नंबर की जानकारी देना होता है।

FAQ

केवाईसी का पूरा नाम क्या है?

Kyc Full Form in Hindi : Know Your Customer होता हैं। इसे हिंदी में अपने ग्राहक को जानो होता हैं। KYC (केवाईसी) फुल फॉर्म का मतलब होता हैं  अपने ग्राहक को जानो

KYC क्यों जरूरी है?

बैंक और अन्य वित्तीय संस्थानों के द्वारा केवाईसी करने का सबसे बड़ा कारण अपने ग्राहकों के अपडेट जानकारी को जानना होता है।

केवाईसी कराने में क्या क्या लगता है?

आधार कार्ड,,पैन कार्ड,,वोटर कार्ड,,मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज़ फोटो (लागू नही होता), बैंक पासबूक, ड्राइविंग लाइसेंस किसी से भी KYC करवा सकते हैं।

KYC कितने प्रकार के होते हैं?

KYC आप 6 प्रकार से कर सकते है, सभी को ऊपर विस्तार में बताया गया हैं। 

KYC कैसे करें?

www.karvykra.com को ओपेन कर खुले पेज में अपना PAN Card Number को दर्ज कर Search करने पर स्टेटस देखा जा सकता है। 

केवाईसी के कितने रुपए लगते हैं?

KYC कराने में कोई Extra पैसा नही लगता हैं, कोई भी वित्तीय संस्था आपका kyc कर सकता हैं, आप अपने बैंक से भी kyc करवा सकते हैं। 

KYC और eKYC में क्या अंतर है?

KYC में आपको अपना दस्तावेज का Xerox कॉपी देना होता हैं, जबकि eKYC में किसी प्रकार का हार्ड कॉपी नही देना होता हैं।

केवाईसी घर बैठे कैसे करें?

आप घर बैठे भी अपना KYC कर सकते हैं, तरीका ऊपर बताया गया हैं। 

केवाईसी से क्या फायदा?

KYC के बहुत सरे फायदा होता हैं, कई सारा ऐसा काम है जो आप बिना kyc के नही कर सकते हैं, जैसे शेयर बाजार में निवेश इत्यादि। 

निष्कर्ष / Conclusion

इस ब्लॉग लेख में आपने KYC Kya Hai इसके प्रकार और KYC कैसे करे 2023 के बारें में विस्तृत से जाना है आशा करता हूँ आधार कार्ड से ऑनलाइन KYC कैसे करें? के बारें में सम्पूर्ण जानकारी पता चल चुका होगा।

अधिक लोगों तक इस जानकारी को पहुंचाने के लिए इस ब्लॉग पोस्ट को सोश्ल मीडिया पर अवश्य शेयर करें। शुक्रिया…

हमेशा अपडेट रहने के लिए ग्रुप ज्वाइन करें।

इसे भी पढ़े:– Cheque Book Issue Application In Hindi | चेकबुक के लिए आवेदन कैसे लिखे?

इसे भी पढ़े:– RTI Kya Hai | सूचना का अधिकार क्या है | RTI कैसे लगाये सभी जानकारी यहाँ पढ़े ।

इसे भी पढ़े:- सभी प्रकार के पीडीफ फॉर्म यहाँ से डाउनलोड करें। Download PDF Forms

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here