RTI Kya Hai | Suchna Ka Adhikar Kya Hai | RTI online Application Form | RTI कैसे लगाये सभी जानकारी यहाँ पढ़े ।

3
RTI Kya Hai सूचना का अधिकार क्या है
RTI Kya Hai सूचना का अधिकार क्या है

आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे RTI Kya Hai | Suchna Ka Adhikar Kya Hai | RTI online Application Form | RTI कैसे लगाये। पूरी जानकारी के लिए आर्टिकल को  तक जरूर पढ़े। 

RTI Kya Hai | suchna ka adhikar kya hai | सूचना का अधिकार क्या है?

सूचना का अधिकार क्या है ( RTI Kya Hai ) :- मुख्य रूप से भ्रष्टाचार के खिलाफ 2005 में एक अधिनियन लागू किया गया जिसे सूचना का अधिकार यानि RTI  कहा गया। इसके अंतर्गत कोई भी नागरिक किसी भी सरकारी विभाग से कोई भी जानकारी ले सकता हैं बस सर्त यह हैं की RTI के तहत पूछे जाने वाली जानकारी तथ्यों पर आधारित होनी चाहिए। यानि हम किसी भी सरकारी विभाग से उसके विचार नहीं पूछ सकते। जैसे की आप के इलाके में विकाश के कामो के लिए कितने पैसे खर्च हुआ है और कहा खर्च हुआ हैं, आपके इलाके की राशन की दुकान में कब और कितना राशन आया, स्कूल, कॉलेज और हॉस्पीटल में कितना पैसा खर्च हुआ हैं। सवाल आप सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत सकते हैं।

से भी पढ़े :- सभी प्रकार के PDF फॉर्म यहाँ से डाउनलोड करें।

सूचना का अधिकार अधिनियम के उद्देश्य क्या है | What is the objective of Right to Information Act | RTI Kya Hai?

सूचना का अधिकार अधिनियम का मूल्य उद्देश्य नागरिकों को सशक्त बनाना, सरकार की कार्यशैली में पारदर्शिता और जवाबदेही बनाना भ्रष्टाचार को रोकने तथा लोकतंत्र को सही मायने में लोगो के लिए कार्य करने वाला बनान हैं। यह स्पष्ट हैं की सूचना प्राप्त नागरिक शासन के साधनो पर आवश्यक नजर रखने के लिए बेहतर रूप से ध्यान तैयार होता हैं। और सरकार को जनता के लिए और अधिक जवाबदेह बनता हैं। यह अधिनियम नागरिको को सरकार की गतिविधियों के बारे जागरूक करने की दिशा में  बड़ा कदम हैं। 

  • सूचना का अधिकार अधिनियम, जिसे मात्र RTI के रूप में भी जाना जाता हैं। एक क्रांतिकरी अधिनियम हैं जिसका उद्देश्य भारत में सरकारी संस्थानों में पारदर्शित को बढ़ावा देना हैं।  
  • सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 में भर्ष्टाचार- विधिओं कारकर्ताओं के निरंतन प्रयासों के बाद अस्तित्व में आय। 
  • भ्रष्टाचार एवं घोटाला, अंतर्राष्ट्रीय दबाव तथा सक्रियता,आधुनिकरण एवं समाज जैसे कारन 2005 में सुचना का अधिकार अधिनियम के अधिनियम हेतु उत्तरदायी थे। 

से भी पढ़े :- ऑनलाइन पैसा कैसे कमाए | how to earn money online without investment | online paisa kaise kamaye 

सूचना के अधिकार से क्या लाभ है | RTI Kya Hai ?

सूचना का अधिकार अधिनियम हर नागरिक को यह अधिकार देता है :-
  1. सरकार से कोई भी सवाल पूछ सके या कोई भी सूचना ले सके। 
  2. किसी भी सरकारी दस्तावेज़ की प्रमाणित प्रति ले सके। 
  3. किसी भी सरकारी दस्तावेज की जांच कर सके । 
  4. किसी भी सरकारी काम की जांच कर सके । 
  5. किसी भी सरकारी काम में इस्तेमाल सामिग्री का प्रमाणित नमूना ले सके । 

RTI लगाने के नियम | Rules for applying RTI

  • यदि आप भारत के नागरिक है,तो आप इसके द्वारा आवेदन करके किसी भी सरकारी दफ्तर (Office) से महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 
  • आप किसी भी Public Authority से जानकारी हासील कर सकते हैं। 
  • इसमें सभी केंद्रीय राज्य और स्थानीय संस्थाएं आते हैं, जिसकी स्थापना संविधान के अंतर्गत हुई हैं। 
  • इस अधिनियम से बहुत सारे संस्थओं को अलग रखा गया हैं। 
  • RTI में आपको ऐसी सुचना नहीं मिलेगी, जिससे देश की अखंडता या सुरक्षा खतरे में आजाये। साथ ही किसी विभाग की आंतरिक जाँच पर प्रभाव परे, ऐसा सुचना भी आपको नहीं दी जाएगी। 

से भी पढ़े :-Graduate Chai wali | Priyanka Gupta Chai Wali Biography | ग्रेजुएट चाय वाली

RTI आवेदन शुल्क | RTI fee | सूचना का अधिकार आवेदन शुल्क 

  • आपको बता दें की हर राज्य का आवेदन शुक्ल अलग -अलग होता हैं। 
  • उत्तर प्रदेश में RTI आवेदन का शुल्क 15 रु० प्रति पेज से घट कर 5 रु० प्रति पेज कर दिया गया हैं। वहीँ उत्तराखंड में RTI की फीस 10 रु० हैं। 
  • आवेदक को आवेदन के साथ – साथ शुल्क भी जमा करना परता हैं, किसी भी व्यक्ति के लिए रकम 10 रूपए की होती हैं। और BPL कार्ड धारियों के लिए माफ कर दी जाती हैं। 
  • अलग -अलग राज्यों के आधार पर यह शुल्क 8 रु से 100 रु रूपए तक का होता हैं। 

RTI का जवाब कितने दिन में आता हैं | RTI Reply

  • RTI के अंतर्गत आवेदन करने के बाद 30 दिनों के भीतर परिणाम मिल जाता हैं, अदि तत्कालित महत्वपूर्ण तस्तवेज हो तो इसका परिणाम 48 घंटे के भीतर भी प्राप्त किया जा सकता हैं।
  • अगर आपकी RTI Application का जवाब 30 दिनों के भीतर नहीं आता हैं, तो सरकार आपको फ्री में सूचना देगी। 
  • अगर किसी अधिकारी से जवाब नहीं आता हैं, तो उसकी शिकायत आप सूचना अधिकारी से कर सकते हैं। 
  • RTI में आपको ऐसी सुचना नहीं मिलेगी, जिससे देश की अखंडता या सुरक्षा खतरे में आजाये। साथ ही किसी विभाग की आंतरिक जाँच पर प्रभाव परे, ऐसा सुचना भी आपको नहीं दी जाएगी। 

Also Read:- बिहार के ऑफिसियल वेबसाइट एवं उनके फायदे के बारे में जरूर जाने 2022

RTI Kaise Kiya Jata Hai | RTI Kaise lagaye

बिहार सरकार ने प्रशासनिक पारदर्शिता के क्षेत्र में विशिष्ठ पहल करते हुए RTI ACT 2005 के अंतर्गत 29 जनवरी 2007 को जानकारी सुविधा केंद्र की स्थापना की थी। भारत वर्ष में पहली बार बिहार सरकार ने ICT का प्रभावशाली ढंग से प्रयोग करते हुए। (Right To Information) RTI act 2005 व्यापक स्तर पर प्रसारित करने एवं आम लोगों के पहुंच में लाने का काम किया हैं। जिसके द्वारा आप घर बैठे ऑनलाइन आरटीआई लगा कर सुचना प्राप्त कर सकते हैं।

RTI status

महत्वपूर्ण लिंक & फॉर्म   ||   Important Link &Form 
Apply Online RTI Apply Now
RTI Apply Status Check Status
Download RTI Application FormDownload Now

इसे भी पढ़े :- NTT Kya Hai || NTT Kya Hota Hai || NTT Course kya hai | NTT Course Details In Hindi

FAQ 

RTI क्या है in Hindi?

RTI का पूरा नाम होता है- राइट टू इंफॉर्मेशन (Right to Information) अधिनियम के तहत देश का कोई भी नागरिक किसी भी सरकारी डिपार्टमेंट से पूछताछ कर सकता है। 

RTI कौन लगा सकता है?

जो व्यक्ति भारतीय नागरिक है किसी भी सरकारी संगठन से जानकारी प्राप्त कर सकता है या इसके लिए आवेदन कर सकता है।
RTI कैसे किया जाता है?

आप RTI ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से कर सकते हैं। ऑनलाइन करने के लिए ऑफिसियल वेबसाइट www.rtionline.gov.in हैं।  

RTI सबसे पहले कहाँ लागू हुआ?

स्वीडन ने सबसे पहले  सूचना का अधिकार कानून 1766 में लागू किया था। 

RTI अधिनियम कब बना?

12 मई 2005 को पारित किया गया था। और 15 जून 2005 को राष्ट्रपति की स्वीकृति प्राप्त हुई।

क्या सरकारी कर्मचारी RTI लगा सकता है?

हाँ बिलकुल, पहले देश का नागरिक हैं, बाद में सरकारी कर्मचारी। 

एक व्यक्ति कितने आरटीआई दाखिल कर सकता है?

कोई भी भारतीय व्यक्ति 1 वर्ष में 3 बार RTI लगा सकता हैं। 

सूचना नहीं देने पर प्रतिदिन कितना जुर्माना लगाया जाता है?

समय सीमा के अंदर सुचना न देने पर संबंधित अधिकारी को 250 रुपए प्रतिदिन अथवा अधिकतम 25 हजार रुपए तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

आरटीआई लगाने के लिए आधिकारिक वेबसाइट कौन सी है?

ऑनलाइन करने के लिए ऑफिसियल वेबसाइट www.rtionline.gov.in हैं।  

हमेशा अपडेट रहने के लिए ग्रुप ज्वाइन करें। 

TeleGram

इसे भी पढ़े :- बंशावली क्या होता हैं |Vanshavali Kya hai | Vanshavali Kaise Banaye

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here