IAS Full Form in Hindi | IAS Kya Hai | IAS Kaise Bane | IAS Banne Ke Liye Kya Karna Padta Hai

1
IAS Full Form in Hindi IAS Kya Hai IAS Kaise Bane IAS Banne Ke Liye Kya Karna Padta Hai
IAS Full Form in Hindi IAS Kya Hai IAS Kaise Bane IAS Banne Ke Liye Kya Karna Padta Hai

आज के इस आर्टिकल में हम आपको IAS Full Form in Hindi में बताने वाला हूँ। इसके साथ हम आपको IAS से सम्बंधित सभी जानकारी और IAS बनाने के लिए क्या Abilities चाहिए मैं इस आर्टिकल में बताऊंगा। आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े।

IAS Full Form in Hindi | IAS का फूल फॉर्म Indian

IAS Full Form in Hindi आईएएस का मतलब – IAS का फूल फॉर्म Indian Administrative Services होता है, जिसे हिन्दी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहा जाता है। यह एक केंद्र सरकार का सबसे उच्च पदों में एक प्रशासनिक अधिकारी का पद होता है।

जिसे बड़े ही सम्मान के साथ देखा जाता है आईएएस को सरकार का back mind government भी कहा जाता है यानि आईएएस अधिकारी को सरकार का दिमाग कहा जाता है। जो सरकार को कई तरह के सुझाव देते रहती है जिसे सरकार गहन-विमर्श के बाद लागू करती है।

भारत में लाखों की संख्या में युवा और युवतियाँ आईएएस ऑफिसर बनने की सपना देखते है और इसके परीक्षा की तैयारी भी करते है आपको बता दें, सिविल सर्विसेस का एक्जाम बड़ी ही कठिन होता है हर साल 6 लाख से अधिक आवेदन आते है जिसमें से मात्र 1000 को ही सेलेक्ट किया जाता है।

अगर आपने भी आईएएस अधिकारी बनने का सपना देखा है और इसे पूरा करना चाहते है इससे पहले आपको IAS Full Form – What is IAS in Hindi, Eligibility & Age Criteria के बारें में अवश्य जानना चाहिए।

यह इसकी एक बेसिक जानकारी होती है जिसे पूरा करके आईएएस ऑफिसर बना जाता है। इस ब्लॉग लेख में आपको IAS Full Form – आईएएस का फुल फॉर्म क्या है और IAS Officer Kaise Bane के बारें में विस्तृत जानकारी मिलने वाली है।

IAS Full Form in Hindi | आईएएस को हिंदी में क्या कहते हैं?

भारतीय प्रशासनिक सेवाओं का उच्च पदों में से एक IAS का पद भी शामिल होता है जिसका पूरा नाम Indian Administrative Services होता है जिसे आप हिन्दी में भारतीय प्रशासनिक सेवा भी कह सकते है।

जो व्यक्ति इस पद को ग्रहण कर लेता है तब उन्हे IAS Officer (आईएएस अधिकारी) कहा जाता है जिन्हे जिला कलेक्टर, आयुक्त, मुख्य सचिव, कैबिनेट सचिव, चुनाव आयुक्त, सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के प्रमुख इत्यादि पदों पर नियुक्ति किया जाता है।

IAS Full Form in Hindi – IAS Meaning in Hindi

I – Indian (भारतीय)

A – Administrative (प्रशासनिक)

S – Services (सेवा)

Indian Administrative Services = भारतीय प्रशासनिक सेवा

IS Ka Full Form | IAS Ki Full Form

IAS को ही लोग जल्दीबाजी में IS बोल देते हैं, मगर इसका सही नाम IAS होता हैं। और IAS Ki Full Form Indian Administrative Services होता हैं।

What is IAS in Hindi | IAS Kya Hota Hai |आईएएस ऑफिसर क्या होता है?

यह एक भारतीय प्रशासनिक सेवाओं का उच्च अधिकारी होता है, जो किसी जिला के (जहां पर उनकी नियुक्ति हो रखा है) प्रथम और सबसे उच्च व्यक्ति होते है जिन्हे आईएएस अधिकारी या DM (District Magistrate) यानि जिला अधिकारी कहा जाता है।

यह पद ऐसे चयनित और होनहार लोगों को दिया जाता है जो UPSC Exam (Union Public Service Commission) को कई चरणों को पूरा करते है, और उसमें अपना बेस्ट देते है। एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए कैंडीडेट को तीन परीक्षा (मुख्य परीक्षा, मेंस परीक्षा और साक्षात्कार interview परीक्षा) को पूरा करना होता है।

जब कंडीडेट इन परीक्षाओं में सबसे बेस्ट देते है और उच्च अधिकारी को लगता है कि इनके अंदर आईएएस अधिकारी बनने की योग्यता है इसके अलावा बेहतर प्रदर्शन के आधार पर उन्हे आईएएस का पद दे दिया जाता है, जो उनके द्वारा आए रैंक के अनुसार आईएएस अधिकारी बनाया जाता है।

IAS Officer Power in Hindi | आईएएस ऑफिसर का शक्ति

एक आईएएस अधिकारी के पद की शक्ति इसी बात से लगा सकते है, कि जिला के सभी अधिकारी (पुलिस अधीक्षक सहित SP) इनके अंदर ही कार्य करती है। इसके अलावा चुनाव के समय प्रधानमंत्री तक को भी एक आईएएस अधिकारी के समक्ष खड़ा रहना होता है।

इस तरह कहा जा सकता है कि IAS IPS और IFoS के साथ देश की तीन अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है। आईएएस का पूरा अर्थ भारतीय प्रशासनिक सेवा है। IAS सरकार की सर्वोच्च प्रतिष्ठित सेवाओं में से एक है।

Read More:- म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें – Mutual Fund Me Invest Kaise Kare

IAS Post History in Hindi – आईएएस पद की शुरुआत कैसे हुई ?

इस पद को शुरुआत करने की देन ब्रिटिश सरकार की है जो भारत पर ईस्ट इंडिया कंपनी और व्यापार के रूप में कब्जा कर लिया था। उस समय के ब्रिटिश सरकार ने अलग-अलग प्रान्तों में शासन सत्ता को चलाने के लिए 1858 में इंपीरियल सिविल सर्विस (ICS) पद की शुरुआत किया था |

जब भारत को 1947 में अंग्रेजों से स्वतंत्रता मिली और 26 जनवरी 1950 को भारत का अपना दुनिया का सबसे लंबा लिखित संविधान लागू हुआ, उसी दिन से Imperial Civil Services का नाम बदलकर Indian Administrative Services कर दिया गया था।

IAS Banne Ke Liye Kya Kare  | IAS Banne Ke Liye Kya Karna Padta Hai

IAS बनाने के लिए आपको सबसे पहले किसी भी विषय से स्नातक (Graduation) करना जरुरी हैं, बिना Graduation किये IAS नही बन सकते हैं। मगर हाँ आप Graduation के पढाई के साथ IAS परीक्षा की तैयारी शुरू कर सकते हैं। Graduation में भी आप ऐसे विषय का चयन करे जिससे आपको IAS के परीक्षा में मद्दत

IAS Kaise Bane – How to become an IAS officer

एक आईएएस अधिकारी बनने का एक ही तरीका है जीतोड़ मेहनत और समझ जिसके बल पर आप भी इस पद के दावेदार हो सकते है। बेशक इस पद को पाने के लिए कई साल की दिन-रात की मेहनत लगती हो, अगर आप ऐसा कर सकते है तब यूपीएससी के पास आपके लिए भी आईएएस अधिकारी का एक पद खाली हो सकता है।

कई ऐसे मापदण्ड है जिसे पूरा करके आप भी आईएएस अधिकारी बन सकते है अगर आपके मन में इस पद को पाने की उम्मीद भी नही है फिर भी आप इस ब्लॉग को पढ़कर कम से कम यह तो जाने सकते है IAS Officer Kaise Bante है। जिसके बारें में आगे विस्तार से बताया गया है।

IAS बनने के लिए योग्यता – Eligibility to become an IAS

एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए कैंडीडेट को कई योग्यताओं को पूरा करना होता है जिसके बाद ही वह UPSC परीक्षा को देने के लिए इलिजीबल होते है। आगे उन सभी योग्यताओं को बताया गया है, जिसे अगर आप पूरा करते है तब आप भी इसके परीक्षा के लिए आवेदन दे सकते है।

IAS बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता – IAS Education Qualification

जो कैंडीडेट आईएएस बनने के लिए यूपीएससी मुख्य परीक्षा में बैठना चाहते है उनकी Education Qualification कम से कम मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी किसी भी क्षेत्र में Graduate होना चाहिए।

इसके अलावा किसी भी तकनीकी कोर्स जैसे – B.tech, BCA, Agriculture, Business के अभ्यर्थी भी UPSC परीक्षा के लिए आवेदन दे सकते है। अगर कैंडीडेट ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में यानि लास्ट सेशन में है तब भी वह आवेदन दे सकते है और सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी कर सकते है।

आईएएस परीक्षा के लिए आयु सीमा क्या है? – Age limit for IAS Exam?

  • न्यूनतम 21 और अधिकतम 32 वर्ष के बीच का उम्मीदवार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में बैठ सकता है।

  • सामान्य वर्ग (General) से आने वालें अभियार्थी की अधिकतम उम्र 32 वर्ष है।

  • OBC वर्ग के उम्मीदवार के लिए अधिकतम उम्र 35 वर्ष है।

  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति (SC/ST) उम्मीदवार के लिए अधिकतम उम्र सीमा 37 वर्ष है।

  • तो वही शारीरिक रूप से विकलांक उम्मीदवार General (42 वर्ष), OBC (45 वर्ष), SC/ST (47 वर्ष) अधिकतम उम्र सीमा है।

Category-wise Age Limit for UPSC Civil Services Exam

Category

Upper Age Relaxation

Age Limit

IAS Age Limit for General

0

21 to 32 years

IAS Age Limit for SC/ST

5 years

21 to 37 years

IAS Age Limit for OBC

3 years

21 to 35 years

IAS Age Limit for PwBD

10 years

21 to 42 years

Defense Services Personnel, disabled in operations during hostilities

3 years

21 to 35 years

Ex-servicemen

5 years

21 to 37 years

IAS UPSC Number of Attempt for All Categories

General

6 प्रयास (Attempt)

EWS

6 प्रयास (Attempt)

OBC

9 प्रयास (Attempt)

SC/ST

आयु सीमा तक

शारीरिक रूप से अक्षम उम्मीदवार

सामान्य और ओबीसी उम्मीदवारों के लिए 9 प्रयास और SC/ST जाति के उम्मीदवारों के लिए असीमित प्रयास (आयु सीमा तक)

आईएएस परीक्षा के लिए आवेदन कैसे करें? – IAS Exam Application

अगर आप भी यूपीएससी द्वारा हर साल आयोजित किया जाने वाला आईएएस के मुख्य परीक्षा को देना चाहते है तब आप इसके लिए जब इसकी डेट आएगी तब UPSC के वेबसाइट www.upsc.gov.in से ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन दे सकते है जिसमें आपको अपने हर एक चीज़ की जानकारी फॉर्म में फ़िल करना होता है।

IAS Selection Process in Hindi

एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए आपको तीन अलग-अलग चरणों में हुई परीक्षाओं से गुजरना होता है: –

  • प्रारम्भिक परीक्षा (Preliminary Examination) – इसमें 2 सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र दिया जाता है जो 200 – 200 यानि पूरे 400 नंबर का होता है।

  • मुख्य परीक्षा (Mains Exam) – इसमें उम्मीदवार को 9 प्रश्न-पत्र दिया जाता है जो 2350 का एग्जाम होता है।

  • साक्षात्कार (Interview) – इसमें 45 मिनट तक का इंटरव्यू होती है जिसमें अपने योग्यता और वहाँ पुछे गए सवालों के जवाब पर दिया गया जवाब के आधार पर मिले अंक के आधार पर मेरिट बनाया जाता है।

FAQs – IAS Officer Full Form in Hindi 
Q. पहले आईएएस अधिकारी कौन थे – Who was the first IAS officer?

Ans. स्वतंत्र भारत में पहले आईएएस अधिकारी अन्ना राजम मल्होत्रा थे।

Q. आईएएस में सबसे शक्तिशाली पद कौन है?

Ans. भारत का कैबिनेट सचिव UPSC पदों में सबसे शक्तिशाली पद है।

Q. क्या आईएएस जज से भी ताकतवर है?

Ans. न्यायाधीशों के पास न्यायिक शक्तियाँ होती हैं और IAS के पास कार्यकारी शक्तियाँ होती हैं। लेकिन एक न्यायाधीश अदालत में आईएएस/आईपीएस जैसे कार्यकारी अधिकारी को तलब कर सकता है, उसे दंडित कर सकता है, उसे कुछ चीजें करने/नहीं करने का आदेश दे सकता है।

Q. क्या सभी आईएएस डीएम बनते हैं?

Ans. IAS अधिकारी के रूप में 6 वर्ष की सेवा के बाद, 2 वर्ष की प्रशिक्षण अवधि सहित, एक उम्मीदवार DM बनने के लिए पात्र होता है। DM बनने के लिए उम्मीदवार को IAS अधिकारियों की रैंक सूची में सबसे ऊपर होना चाहिए।

निष्कर्ष | Conclusion

इस ब्लॉग लेख में आपने IAS Full Form in Hindi – आईएएस अधिकारी कैसे बनें के बारें में विस्तार से जाना। आशा करता हूँ आपको आईएएस को हिन्दी में क्या बोला जाता है के बारें में सभी जानकारी प्राप्त हो गई होगी। इस ब्लॉग लेख को अपने सोश्ल मीडिया पर अवश्य शेयर करें। शुक्रिया… 

हमेशा अपडेट रहने के लिए निचे  ज्वाइन करें।

इसे भी पढ़े:-बिहार में आवासीय प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन अप्लाई करें बिना OTP के और घर बैठे प्राप्त करें|

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here